ई-पेपरग्राम पंचायतझारखंडपश्चिम बंगालबिहारराज्यो की खबरेंलाइव वीडियो

लालू प्रसाद और नीतीश कुमार की दोस्ती सांप और नेवले की दोस्ती जैसी है : श्रवण अग्रवाल

पटना ,(संवाददाता) : राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रवण कुमार अग्रवाल ने आज कहा कि लालू प्रसाद और नीतीश की दोस्ती सांप और नेवले की दोस्ती की जैसी है। साँप और नेवलें में कभी मित्रता नही हो सकता लालू प्रसाद अपने मुख्यमंत्री मित्र नीतीश कुमार को साँप कहकर संबोधित करते थे और कहते थे कि नीतीश कुमार साँप की तरह हर दो वर्ष में केचुली बदलते हैं, इनदिनों जो बिहार की राजनीति में जनता दल यू और राजद के बीच मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर खींचातान और बयानबाजी चल रहा है इससे लगता है कि राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद अपने बेटे तेजस्वी यादव को बिहार का सीएम बनाने की हड़बड़ी में लगे हुए हैं। लालू प्रसाद के द्वारा बनाये गए योजना और उनके ही इशारे पर राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी तथा राजद के विधायक जो पार्टी के मुख्य प्रवक्ता भी हैं और अन्य भी राजद के अन्य वरिष्ठ नेताओं के द्वारा निरंतर यह कहा जा रहा है 2023 में बिहार के मुख्यमंत्री की कुर्सी तेजस्वी यादव को सौंप कर नीतीश कुमार केन्द्र की राजनीति करने के लिए दिल्ली जाएंगें, शिवानंद तिवारी ने तो नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री पद का त्यागकर आश्रम जाने तक की सलाह दे डाली। लालू प्रसाद अपने नेताओं से बयानबाजी दिलवाकर मुख्यमंत्री की कुर्सी तेजस्वी को सौंपने के लिए नीतीश कुमार पर दबाव बना रहे हैं, पार्टी प्रवक्ता ने बोला कि कहाँ तो नीतीश और लालू भाजपा मुक्त देश बनाने के सपने देख रही थी लेकिन राजद ने नीतीश मुक्त बिहार बनाने में अपनी पूरी ताकत को झोंक दिया है। राजद के नेता एवं मुख्य प्रवक्ता के द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि तेजस्वी यादव को 2023 में मुख्यमंत्री की कुर्सी सौंपनें की डील नीतीश कुमार से उनके पार्टी जनता दल यू से हो चुकी है ऐसे में राजद, जदयू और महागठबंधन में शामिल सभी पार्टियों को पे्रस मीडिया के सामने आकर महागठबंधन की सरकार के गठन की समय जिस तरह की डील और समझौता नीतीश कुमार और लालू प्रसाद के बीच हुआ है इसको स्पष्ट करना चाहिए क्योंकि राजद और जनता दल यू के नेताओं के बीच सह और मात के खेल में बिहार का विकास अवरूद्ध हो गया है राज्य मंे अपराध की घटनाओं में भारी बढ़ोतरी हुआ है, पार्टी प्रवक्ता श्रवण अग्रवाल ने कहा कि आज नीतीश कुमार ने मीडिया के सामने आकर तेजस्वी को 2023 में मुख्यमंत्री बनाने के राजद नेताओं के द्वारा दिए जा रहे बयान और डील को अफवाह बताकर विराम लगाने की जो प्रयास इनके द्वार किया गया है, नीतीश कुमार भी भलीभाँती जानते हैं उनके लिए दिल्ली बहुत दूर है 2024 में फिर से नरेन्द्र मोदी जी की सरकार केन्द्र में बनने जा रही है इस बात का अहसास भलीभाँती नीतीश कुमार को है। पार्टी प्रवक्ता अग्रवाल ने कहा कि नीतीश कुमार राजनीति के बहुत चतुर खिलाड़ी हैं वे किसी भी कीमत पर मुख्यमंत्री पद का त्याग नहीं कर सकते हैं। पार्टी प्रवक्ता अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री दोनों को मिलकर बिहार में बढ़ते अपराध पर रोक लगाने के लिए ठोस निर्णय लेना चाहिए और दोनों नेताओं ने बिहार में बेरोजगारों को 20 लाख नौकरी और रोजगार देने का जो वायदा किया है उसपर काम करना चाहिए। अन्त में श्रवण अग्रवाल ने कहा कि इनदिनों दोनों पार्टियों और महागठबंधन के बीच जो भी चल रहा है उससे बिहार में विधानसभा का मध्यावधि चुनाव होने की प्रवल संभावना है।

Tags

Related Articles

Close