ई-पेपरग्राम पंचायतझारखंडपश्चिम बंगालबिहारराज्यो की खबरें

राजद के राजकुमार को अर्थव्यवस्था की समझ नहीं है: संजय जायसवाल

पटना  ,(संवाददाता) : राजद के प्रतिरोध मार्च के औचित्य पर सवाल उठाते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने कहा की राजद के राजकुमार तेजस्वी यादव को अर्थव्यवस्था की समझ ही नहीं है उनके लिए महंगाई का अर्थ है कि अब उनका गाय दुहने वाला करोड़ों की जमीन उनको दान नहीं कर पा रहा है। मोदी जी के राज में 2014 से 2020 तक महंगाई दर लगभग 0 थी पर पहले कोरोना और बाद में रूस-यूक्रेन युद्ध ने दुनिया के अर्थशास्त्र को परेशान किया है और विश्व के 50 से ज्यादा देशों की अर्थव्यवस्था ध्वस्त होने के कगार पर है। परंतु भारत की अर्थव्यवस्था पूरी दुनिया में सुदृढ है और सभी मानकों पर दुनिया की सबसे सुरक्षित आर्थिक तंत्र है। दुनिया की कई प्रमुख रेटिंग एजेंसियों ने इस बात को स्पष्ट भी कर दिया है। तेजस्वी यादव इन विषयों से अनभिज्ञ अभी किसी छुट्टियों से लौटे प्रतीत हो रहे हैं और प्रतिरोध मार्च का आयोजन कर रहे हैं जो ठीक उसी प्रकार का कारनामा है जैसा राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की भाई-बहन की जोड़ी ने अपने घोटालों को छीपाने और उस पर पर्दा डालने के लिए दिल्ली में किया था। तेजस्वी यादव को अपने पिता के शासन को याद करना चाहिए जब सरकारी कर्मचारियों, शिक्षकों, प्रोफेसर को महीने का वेतन भी नहीं मिलता था और महीनों तक दुखियों की भांति समाज के महत्वपूर्ण लोग तत्कालीन हड़ताली मोड़ पर धरना देते थे। मात्र 20 वर्ष की आयु में आप 30 से ज्यादा संपत्तियों के मालिक कैसे बन गए यह फॉर्मूला जनता को समझ ही नहीं आया। राजद और कांग्रेस के गुट में रहने वाले जितने भी क्षेत्रीय दल हैं उनमें कई के घर तथा कार्यालय में इतने नोट मिल रहे हैं कि अधिकारी उसे गिन भी नहीं पा रहे हैं। ये पैसों का हेराफेरी इनके सत्ता प्राप्ति का मौलिक लक्ष्य है और जनता इनके कारनामें देखकर हतप्रभ है, इसलिए इस मुद्दे पर पानी डालने हेतु प्रतिरोध मार्च का आयोजन हो रहा है।

Related Articles

Close