ई-पेपरग्राम पंचायतझारखंडपश्चिम बंगालबिहारराज्यो की खबरेंलाइव वीडियो

मांगें पूरी नहीं हुई तो रहेगा आन्दोलन जारी:  बिहार निषाद संघ 

पटना , (संवाददाता) : पटना के पुनाईचक में अवस्थित बिहार निषाद संघ के प्रदेश कार्यालय में संघ के प्रदेश कोर कमिटी की बैठक कीअध्यक्षता करते हुए संघ के प्रदेश अध्यक्ष ई हरेन्द्र प्रसाद निषाद ने कहा कि निबंधक सहयोग समितियों बिहार ने 10 मई 2022 को परम्परागत मछुआरों की सूची उपलब्ध होने पर ही प्रखंड स्तरीय मत्स्यजीवी सहयोग समितियों में आँन लाइन सदस्यता अभियान चलाने का आदेश दिया है। इसी प्रकार बिहार के निषाद समाज सरकार से मांग करता है कि परम्परागत मछुआरों की सूची जब तक उपलब्ध नहीं होता है तब तक मत्स्यजीवी सहयोग समितियों का चुनाव भी स्थगित रखा जाय। संघ के कार्यकारी अध्यक्ष जलेश्वर सहनी ने कहा कि नदियां ही मछुआरों का जीविका का श्रोत रहा है। फरक्का वराज में फिश लैडर न होने से समुद्री मछलियों का नदियों में आना जाना अवरूद्ध होने, मिलों एवंं शहरों का प्रदूषित पानी नदियों में गिरने,एवं नदियों में डैम व वराज के निर्माण से नदियों में पानी का जल स्तर गिरने से प्राय सभी नदियों में मछलियों का मिलना बहुत कम हो गया है नदियों में पुलों के निर्माण से नदियों में नाव घाट परिचालन प्रायः बन्द हो गया है इन सभी कारणों से निषादों की आर्थिक स्थिति बहुत दयनीय होती जा रही है अगर सरकार नदियों के दियारे के खेती योग्य भूमि निषादों के साथ वन्दोवस्ती करें एवं नदियों में बालू खनन की वन्दोवस्ती में निषादों के लिए कोटा निर्धारित करें तो बहुत हद तक निषादों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाया जा सकता है। संघ के कार्यकारी प्रधान महासचिव धीरेन्द्र कुमार निषाद ने निषाद समुदाय अन्तर्गत आने वाले सभी जाति /उपजातियों को एकीकृत कर निषाद शीर्ष में समावेशित कर शीघ्र अधिसूचित करने की कई वर्षों से की जा रही मांग पर सरकार से शीघ्र निर्णय लेने की मांग की ताकि जाती गत जनगणना के समय जाति केनाम पर सभी सिर्फ निषाद ही लिखा जाय। महासचिव उमेश मंडल एवंं दिलीप कुमार निषाद ने कहा कि महाधरना के माध्यम से मांगी गई निषादो की सात सूत्री मांगों पर अगर एक माह में सरकार निर्णय नहीं लेती है तो पुरे बिहार में आन्दोलन जारी रहेगा। बैठक में प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ शतीस कुमार निषाद ने केन्द्र सरकार द्वारा प्रायोजित पूर्व से घोषित पायलट प्रोजेक्ट के तहत मछुआरों के लिए राहत सह वचत योजना शीघ्र लागू करने की सरकार से मांग की। बिहार निषाद संघ के पूर्व सदस्य स्व.यदुनंदन महतो के चतुर्थ पुण्यतिथि पर दो मिनट का मौन रखा कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। बैठक में शशीभूषण कुमार,प्रेम कुमार निषाद डॉ शतीस कुमार निषाद, कृष्णा देवी, जीतेन्द्र कुमार शिवरतन निषाद, रामजतन चौधरी रामऔतार चौधरी, सुरेश निषाद, संजय निषाद श्याम लाल सहनी, राजेन्द्र सिंह निषाद पप्पू निषाद उपस्थित थे।

Related Articles

Close