ई-पेपरग्राम पंचायतझारखंडपश्चिम बंगालबिहारराज्यो की खबरेंलाइव वीडियो

परिवार नियोजन की जानकारी एवं सुविधा के लिए संचालित है फैमिली प्लानिंग कार्नर

पूर्णियां, (संवाददाता): स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिलावासियों को प्रजनन स्वास्थ्य की जानकारी देने तथा आवश्यक सुविधाओं की सुलभ व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिए सभी प्रखंड स्थित स्वास्थ्य केंद्रों में फैमिली प्लानिंग कार्नर का संचालन किया जा रहा है। फैमिली प्लानिंग कार्नर द्वारा सभी जिलेवासियों को हमेशा न सिर्फ परिवार नियोजन सुविधाओं के स्थायी व अस्थायी विधियों की जानकारी दी जाती है बल्कि इच्छुक दंपत्तियों को आवश्यक सुविधाएं भी मुहैया कराई जाती है। सभी प्रखंड में संचालित फैमिली प्लानिंग कार्नर में एक परिवार नियोजन समन्यवक अथवा प्रशिक्षित एएनएम द्वारा लोगों को उनकी इच्छा अनुसार परिवार नियोजन की सभी दवाइयां दी जाती हैं। जानकारी हो कि सरकार द्वारा बढ़ती जनसंख्या के स्थिरीकरण के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा 15 नवंबर से 04 दिसंबर तक दो चरणों में मिशन परिवार विकास पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है। इस दौरान सभी दंपत्तियों को विभिन्न परिवार नियोजन सुविधाओं का लाभ दिया जा रहा है। सिविल सर्जन डॉ. एस. के. वर्मा ने बताया कि लोगों को परिवार नियोजन की सभी स्थायी व अस्थायी विधियों की जानकारी देने के लिए जिले के सभी प्रखंड स्वास्थ्य केंद्रों में फैमिली प्लानिंग कार्नर संचालित है। फैमिली प्लानिंग कार्नर में प्रशिक्षित परिवार नियोजन समन्यवक या एएनएम उपलब्ध रहते हैं। कोई भी दंपति कार्नर में आकर परिवार नियोजन के स्थायी या अस्थायी विधि की जानकारी लेकर उक्त सुविधा का लाभ उठा सकता है। सभी स्वास्थ्य केंद्रों में परिवार नियोजन की सभी सुविधाएं लोगों के लिए हमेशा निःशुल्क उपलब्ध हैं। स्वास्थ्य विभाग के डीसीएम संजय कुमार दिनकर ने कहा कि बहुत से लोगों को परिवार नियोजन के विभिन्न तरीकों की सही जानकारी नहीं होती है। मुख्य रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में लोग परिवार नियोजन के केवल स्थायी विधि के बारे में जानते हैं। लोगों को जानकारी उपलब्ध कराने के लिए ही फैमिली प्लानिंग कार्नर चलाया जा रहा है। ग्रामीण स्तर पर लोगों को परिवार नियोजन की विशेष जानकारी के लिए आशा, सेविकाओं द्वारा फैमिली प्लानिंग कार्नर भेजा जाता है। वहां आए दंपत्तियों को परिवार नियोजन की सभी विधि विशेषकर अस्थायी विधि की जानकारी दी जाती है। जिससे कि लोग इसका लाभ उठा सकें। अस्थायी विधि का उपयोग कर लोग पहले बच्चे तथा दूसरे बच्चे के बीच अंतर रख सकते हैं। इसके अलावा फैमिली प्लानिंग कार्नर द्वारा लोगों को स्थायी विधि के रूप में पुरुष नसबंदी की भी जानकारी दी जाती है। उन्हें बताया जाता है कि पुरुष नसबंदी महिला बंध्याकरण की तुलना में आसान है और इससे पुरुषों की पौरुषता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता। केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्यवक सनत गुहा ने बताया कि फैमिली प्लानिंग कार्नर पर जरूरत के सभी स्थायी व अस्थायी साधन उपलब्ध होते हैं। जो परिवार स्थायी साधन का इस्तेमाल करना चाहते हैं जैसे कि पुरुष नसबंदी, महिला बंध्याकरण इत्यादि उन्हें अस्पताल में भेज दिया जाता है, जबकि अस्थायी साधन के रूप में अंतरा इंजेक्शन, कॉपर-टी, छाया, माला-एन, इजी पिल्स, कंडोम आदि फैमिली प्लानिंग कार्नर में ही दंपति को उपलब्ध करा दी जाती है। उसके इस्तेमाल और सावधानियों की जानकारी भी फैमिली प्लानिंग कार्नर में उपस्थित समन्यवक या एएनएम द्वारा दी जाती है।

Tags

Related Articles

Close