ई-पेपरग्राम पंचायतझारखंडपश्चिम बंगालबिहारराज्यो की खबरेंलाइव वीडियो

जिला में फाइलेरिया उन्मूलन अभियान की हुई शुरुआत 

पटना ,(संवाददाता) : फाइलेरिया उन्मूलन अभियान के तहत 20 सितंबर से जिले के सभी लोगों को मास ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एमडीए) अभियान के तहत डीईसी व एल्बेंडाजोल की गोली खिलाई जाएगी। इसके तहत आज पटना के न्यू गार्डिनर रोड अस्पताल में उप विकास आयुक्त रिची पांडेय द्वारा इसका विधिवत उद्घाटन किया गया।  उप विकास आयुक्त ने स्वयं फाइलेरिया की दवा खाकर इस अभियान की शुरुआत की। अभियान को दो चरणों में बांटा गया है। पहला चरण 20 से 23 सितंबर तक और दूसरा चरण 1 से 10 अक्टूबर तक चलेगा। अभियान के तहत जिले के 66 लाख योग्य लाभार्थियों को फाइलेरिया की दवा खिलाई जायेगी।   उप विकास आयुक्त रिची पांडेय ने बताया दवा का सेवन कर फाइलेरिया के संक्रमण से सुरक्षित रहा जा सकता है। सभी लक्षित लोग दवा का सेवन जरुर करें और लोगों को भी इसका सेवन करने के लिए प्रेरित करें। जनभागीदारी से ही इस रोग से निजात पाया जा सकता है।  जिला अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अविनाश कुमार सिंह ने बताया अभियान के दौरान आशा कार्यकर्ता लोगों को अपने सामने ही डीईसी और एल्बेंडाजोल की गोली खिलाएंगी। दो से पांच वर्ष के बच्चों को डीईसी और अल्बेंडाजोल की एक गोली,  छह से 14 वर्ष तक के बच्चों को डीईसी की दो और अल्बेंडाजोल की एक गोली और 15 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को डीईसी की तीन और अल्बेंडाजोल की एक गोली खिलाई जाएगी। अल्बेंडाजोल की गोली लोगों को चबाकर खाना है। दो वर्ष से कम उम्र के बच्चों और गर्भवती महिलाओं को कोई दवा नहीं खिलायी जाएगी। साथ ही गंभीर रूप से बीमार लोगों को भी दवा नहीं खिलाई जाएगी।  जिला वेक्टर जनित जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ. विनोद कुमार ने कहा फाइलेरिया क्यूलेक्स मच्छर के काटने से फैलता है। क्यूलेक्स मच्छर घरों के दूषित स्थलों, छतों और आसपास लगे हुए पानी में पाया जाता है। इससे बचाव के लिए लोग घरों के आसपास गंदगी और पानी नहीं जमने दें। घर के आसपास साफ-सफाई रखें। बुखार आना, शरीर में लाल धब्बे या दाग होना, शरीर के किसी भी अंग में सूजन होना इसके लक्षण हैं।  आशा कार्यकर्ताओं की टीम 14 दिनों तक क्षेत्र में लोगों को अपने सामने दवा खिलाएगी। अभियान के पहले सात दिन में एक आशा के क्षेत्र में पहले छह दिन घर-घर जाकर लोगों को दवा खिलाने के बाद सातवें दिन छूटे हुए घरों में जाकर लोगों को दवा खिलायी जाएगी। आठवें से 13वें दिन तक दूसरे आशा के क्षेत्र में लोगों को घर-घर जाकर दवा खिलाई जाएगी और 14वें दिन फिर छूटे हुए लोगों को दवा खिलायी जाएगी। दवा खिलाने के बाद आशा कार्यकर्ता रजिस्टर में लाभुकों का नाम भी दर्ज करेंगी। साथ ही अभियान के दौरान स्वास्थ्य विभाग को केयर इंडिया और पीसीआई सहयोग भी कर रहा है।  कार्यक्रम में जिला सिविल सर्जन डा विभा सिंह, केयर इंडिया, पीसीआई के सदस्यों के अलावा डॉ. अंजनी कुमार, राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी, वेक्टर जनित रोग, पंकज कुमार, कल्याणी कुमारी आदि मौजूद थे।

Related Articles

Close