ई-पेपरग्राम पंचायतझारखंडपश्चिम बंगालबिहारराज्यो की खबरेंलाइव वीडियो

डॉ. अम्बेडकर और रामविलास के बाद बड़े नेता है चिराग पासवान: डॉ. सत्यानंद शर्मा

आरा, (संवाददाता) : चिराग पासवान डॉ. अम्बेडकर और रामविलास पासवान के बाद सबसे बड़े दलित नेता है। दलितों उत्थान और गरीबों का जीवन स्तर उठाने के लिए संघर्ष का बड़ा कार्ययोजना चिराग पासवान ने तैयार किया है। यह बाते आरा के जवाहर टोला में अनुसूचित जाति कल्याण समिति द्वारा आयोजित सभा को संबोधित करते हुए, लोजपा-सें के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. सत्यानंद शर्मा ने बोलते हुए कहा कि आजादी के 75 वर्षों के बाद भी दलित, अतिपिछड़ा और आदिवासी समाज को गुलाम बनाकर रखा गया है,यह समाज गांधी के स्वराज के सुख से कौसों दूर है। आज भी यह समाज बिल्ली, चूहा , मेढक, शितुआ,घोंघा खाता है, गंदे बस्तियों में रहता है,सबसे ज्यादा जुल्म और अत्याचार की घटनाओं के शिकार इसी समाज को बनाया जाता है। आगे डॉ. शर्मा ने कहा कि 16 वर्षो के शासनकाल में नीतीश कुमार की सरकार ने इस समाज को ना तो राष्ट्र के मुख्य-धारा में जोड़ने का काम किया और नहीं इसके उत्थान के लिए कोई कार्ययोजना तैयार किया। चिराग पासवान से हमारी लम्बी बात हुई, चिराग पासवान ने जो कार्ययोजना बताया उससे दलित, अतिपिछड़ा, आदिवासी समाज का ना सिर्फ उत्थान होगा, बल्कि उनका तकदीर और तस्वीर दोनों बदलेगा। समारोह की अध्य्क्षता उपेन्द्र पासवान ने किया और संचालन रामटहल चौधरी ने किया। समारोह में लगें बाबा चौहरमल के प्रतिमा पर सभी नेताओं ने माल्यार्पण किया। समारोह को लोजपा-सें के शिक्षक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष प्रो.रामप्रवेश यादव, युवा लोजपा-सें के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल कुमार पासवान, पार्टी उपाध्यक्ष कचहरी पासवान के अलावे अनेकों वक्ताओं ने संबोधित किया। उक्त आशय की जानकारी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता रवीश कुमार ने दी।

Related Articles

Close