ग्राम पंचायतझारखंडपश्चिम बंगालबिहार

धार्मिक, सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक महत्ता को उकेरती डॉक्यूमेंट्री फिल्म “मैं कटिहार हूं” के सातवें एपिसोड का उपमुख्यमंत्री ने लोकार्पण किया

कटिहार, (संवाददाता) : बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कटिहार दौरे के दूसरे दिन एक कार्यक्रम में कटिहार जिले के धार्मिक, सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक महत्ता को उकेरती डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘मैं कटिहार हूं’ के सातवें एपिसोड का लोकार्पण किया।

गौरतलब है कि इस वृत्तचित्र के सातवें एपिसोड में कटिहार के हिंदु सनातन धर्म के मंदिरों की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि को संजोने का प्रयास किया गया है। इस फिल्म में प्रसिद्ध बाबा गोरखनाथ मंदिर, बारसोई के बेलवा स्थित ऐतिहासिक नील सरस्वती मंदिर, प्रसिद्ध दुर्गा स्थान, भारीडीह स्थित मंदिर, बंगला साहित्य के ख्याति प्राप्त लेखक डा. बंकिमचंद मुखोपाध्याय के मनिहारी स्थित आवास से लेकर उनकी जीवनी की झलक आदि सहित अन्य महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों को दिखाया गया है। “मैं कटिहार हूं” वृत्तचित्र की श्रृंखला के अंतर्गत अन्य कई एपिसोडों का निर्माण होना है। पांचवां एपिसोड फणीश्वर नाथ रेणु पर आधारित था, जबकि इस वृत्तचित्र श्रृंखला का छठा एपिसोड सिखों के इतिहास से संबंधित था।

इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री श्री प्रसाद ने वृत्त चित्र निर्माण में लगे टीम के सभी सदस्यों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि ऐतिहासिक, धार्मिक और सांस्कृतिक विरासतों को संजोने की जिम्मेवारी प्रबुद्ध समाज को निभानी होगी। उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म ही सनातन धर्म है। सनातन धर्म में वैष्णव, शैव, शक्ति के उपासक, सूर्य के उपासक, अद्वैतवाद सहित कई पंथ हैं। रामायण, भगवत गीता, वेद, उपनिषद् सहित अनेकों धार्मिक ग्रंथ है, जो इसके विशालतम स्वरूप से परिचय कराते हैं।  हिंदू धर्म और हमारी सनातन संस्कृति प्राचीन काल से ही हमारे जीवन का अंग रही है। उन्होंने कहा कि सूर्य की पूजा, पीपल, वट्वृक्ष की पूजा हजारों वर्षों से हमारी पूजा पद्धति में शामिल रही है।

उन्होंने कहा कि वृत्त चित्र निर्माण में लगी टीम ने कटिहार के विषय में देशवासियों को बताने का सार्थक एवं सराहनीय प्रयास किया है, जिसके लिए वे बधाई के पात्र हैं। हम चाहेंगे कि कटिहार की विभिन्न क्षेत्रों जैसे- पर्यटन, कृषि सहित अन्य विशिष्टताओं पर आधारित अलग-अलग एपिसोड भी बनाये जाएं ताकि कटिहार के विषय में देश और दुनिया के लोग जान सकें और समझ सकें। उक्त अवसर पर आलोक कुमार, अनिल समरिया, रितेश कुमार, दीपांशु आर्य सहित वृत्तचित्र का निर्माण में लगे टीम के अन्य सदस्य एवं काफी संख्या में स्थानीय गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close