ग्राम पंचायतझारखंडबिहारराज्यो की खबरें

सरकार की दमनकारी नीति का विरोध जरूरी ः गुरनाम सिंह

दिल्ली, (संवाददाता) : भारतीय किसान यूनियन नेता गुरनाम सिंह चढ़ूणी ने पुलिसकर्मियों को बंधक बनाने की अपील वाले अपने बयान पर सफाई दी है। उन्होंने कहा कि पुलिस किसानों की दुश्मन नहीं है लेकिन सरकार जिस तरीके से दमनकारी नीति अपना रही है, उसका विरोध करना जरूरी है। इसलिए हरियाणा में अगर दिल्ली पुलिस किसी को गिरफ्तार करने के लिए आती है तो उनका गांव वाले मिलकर घेराव करेंगे।गुरनाम सिंह ने कहा कि उन्होंने हरियाणा में लोगों से अपील की है कि आंदोलन में शामिल किसी भी किसान की गिरफ्तारी के लिए अगर दिल्ली पुलिस किसी गांव में जाती है तो वो उनका घेराव करें और उन्हें तब तक वापस जाने ना दें जब तक सरकार अपनी दमनकारी नीति छोड़ ना दे। उन्होंने कहा कि किसानों का आंदोलन शांतिपूर्ण चल रहा है इसलिए सरकार दमनकारी नीति का सहारा ले रही है।

देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर स्थित धरना स्थल पर प्रदर्शनकारियों की तादाद घटने और किसान आंदोलन कमजोर पड़ने को लेकर पूछे गए सवाल पर गुरनाम सिंह चढ़ूणी ने कहा कि पिछले दिनों जगह-जगह महापंचायत हुई जिसके कारण बॉर्डर पर लोगों की संख्या कम हो गई, लेकिन अब घटनास्थल पर ज्यादा से ज्यादा लोगों को इकट्ठा करने पर जोड़ दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आंदोलन कमजोर नहीं हुआ है और यह आंदोलन तब तक चलता रहेगा जब तक इसका मकसद पूरा नहीं होगा। आंदोलन के मकसद को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार जब तक तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं ले लेगी तब तक आंदोलन का मकसद पूरा नहीं होगा।सरकार से आगे बातचीत की संभावना के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम बातचीत के लिए तैयार हैं। सरकार जब बुलाएगी तब हम जाएंगे।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close