ग्राम पंचायतबिहार

बजट पूर्णतया संतुलित और विकासपरक है : डॉ संजय जायसवाल

पटना, (संवाददाता) : बिहार सरकार द्वारा आज पेश किए गये बजट को आत्मनिर्भर बिहार की संकल्पना के तरफ उठा एक महत्वपूर्ण कदम बताते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने कहा “ आज पेश हुआ बजट पूर्णतया संतुलित और विकासपरक है, जिसमें युवा, महिला, किसान, गरीब, बुजुर्ग समेत समाज के एक-एक वर्ग का ख्याल रखा गया है। यह बजट न केवल बिहार की अर्थव्यवस्था को कोरोना के प्रभाव से बाहर निकालेगा बल्कि इससे राज्य के विकास की गति को और तेजी मिलेगी। इस सर्वस्पर्शीय बजट के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद जी को कोटि कोटि धन्यवाद। उन्होंने कहा “इस बजट में महिलाओं को उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के लिए 600 करोड़ का प्रावधान किया गया है, जो बिहार की महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा. इसके अलावा उनकी उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए 5 लाख रु तक का अनुदान देने और 5 लाख रु तक ब्याजमुक्त ऋण देने का निर्णय भी प्रशंसनीय है।1 प्रतिशत के बेहद कम ब्याज दर के साथ 5 लाख रु के अनुदान व ऋण सुविधा युवाओं को भी देने की घोषणा इस बजट में की गयी है, जिसके लिए 200 करोड़ का प्रावधान किया गया है। सरकार की मंशा है कि हमारे युवा रोजगार मांगने वाले की जगह रोजगार देने वाले बने. इसके अतिरिक्त स्किल डेवेलपमेंट एवं उद्यमिता विभाग का गठन करने की घोषणा भी सराहनीय है।अगले 5 वर्षों में 20 लाख रोजगार सृजन के हमारे संकल्प को पूर्ण करने में यह घोषणाएं काफी अहम भूमिका निभाएंगी। डॉ जायसवाल ने कहा “ बजट में शहरी भूमिहीन गरीबों के लिए बहुमंजिला आवास के निर्माण, वृद्ध जनों के लिए आश्रय स्थल, गांवों में कचरा प्रबंधन, बिहार के सभी शहरों में ठोस एवं अपशिष्ठ प्रबंधन, सभी शहरों में विद्युत शवदाहगृह बनाने जैसी घोषणाएं बिहार के विकास में काफी अहम भूमिका निभाएंगी।किसानों, पशुपालकों और मत्स्यपालकों के लिए की गयी घोषणाओं का स्वागत करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा “ बिहार के किसानों और पशुपालकों की आय बढ़ाने के लिए भी बजट में कई प्रावधान किए गये हैं. बजट में हर खेत तक सिंचाई के पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करने की घोषणा की गयी है, वहीं जैविक खेती को प्रधानता देते हुए गंगा नदी के किनारे के 13 जिलों को मिलाकर एक जैविक कॉरिडोर स्थापित करने का ऐलान भी किया गया है।. वहीं पशु एवं मत्स्य संसाधनों के विकास के लिए आधुनिक तकनीकों को बढ़ावा देने की घोषणा की गयी है। पशुओं की जांच के लिए कॉल सेंटर तथा गोवंश संस्थान की स्थापना की जाएगी वहीं चौर क्षेत्रों का विकास भी किया जाएगा, जिसका सीधा लाभ बिहार के पशु एवं मत्स्यपालकों को मिलेगा। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा “ बजट में स्वास्थ्य क्षेत्र के बजट में 21 प्रतिशत की वृद्धि की गयी है. बजट में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, अनुमंडल तथा जिला अस्पतालों की सुविधाओं को बेहतर बनाने पर ज़ोर दिया गया है।वहीं एक नयी योजना ‘बाल हृदय योजना’ के तहत हृदय में छेद के साथ जन्मे बच्चों का निशुल्क उपचार करने की घोषणा भी की गयी है। उन्होंने कहा “ यह बजट बिहार के गांवों व शहरों की समृद्धि बढ़ाने वाला है. कोरोना के प्रभाव से अर्थव्यवस्था को बाहर निकालने के लिए किए जा सकने वाले समस्त उपाए इस बजट में किए गये हैं. इसके सकारात्मक परिणाम जल्द दिखाई देंगे।

 

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close